महात्मा गांधी और मैं: समीक्षा

स्वतन्त्रता आन्दोलन के दौरान महात्मा गांधी ने कई महत्वपूर्ण आन्दोलनों का नेतृत्व किया था और उनकी चर्चा बार-बार होती है। पर 1928 के आसपास बिहार में पर्दा प्रथा के खिलाफ उन्होंने जो आन्दोलन चलाया था, उसके बारे में शायद कम लोग जानते होंगे। मैं भी इससे वाकिफ नहीं था। पिछले सप्ताह मुझे Jagjivan Ram ParliamentaryContinue reading “महात्मा गांधी और मैं: समीक्षा”

मैया की कहानी, मैया की जुबानी 8

#मैया_की_कहानी_मैया_की_जुबानी_8 बाबूजी बाबूजी पक्के गांधीवादी थे। वो स्वतन्त्रता आन्दोलन में काफी सक्रिय रहे थे। 1942 के भारत छोड़ो आन्दोलन के दौरान हमारे घर कई आन्दोलनकारी आते थे। रात के समय उनके लिए खाना बनता था। फिर बंगला(दालान) के भुसघरे(भूसा रखने की जगह) में छुपाकर उन्हें सुला दिया जाता था। उस समय मैं केवल आठ सालContinue reading “मैया की कहानी, मैया की जुबानी 8”

मैया की कहानी, मैया की जुबानी 6

1950-60 के आसपास भारत में शिशु मृत्यु दर काफी ज्यादा था। एक साल से कम उम्र के शिशुओं की मृत्यु सबसे ज्यादा होती थी। हमारे पड़ोस में शायद ही कोई ऐसा घर होगा जिसमें किसी एक महिला के बच्चे की मृत्यु न हुई हो। हाल में मैं अपनी बड़ी दीदी के लड़के, बिनोद, से बातContinue reading “मैया की कहानी, मैया की जुबानी 6”

मैया की कहानी, मैया की जुबानी 3

1950 में मैं सोलह साल की थी जब मेरी शादी हुई। आज के सन्दर्भ में शादी के लिए मेरी उम्र को कम कहा जा सकता है, गैरकानूनी भी। पर उस समय अगर लड़की सोलह साल की हो गई तो पिता को उसकी शादी की चिंता सताने लगती थी। ज्यादातर लड़कियों की शादी सोलह से कमContinue reading “मैया की कहानी, मैया की जुबानी 3”

मैया की कहानी, मैया की जुबानी 2

हमलोग चार भाई बहन थे— तीन बहन और एक भाई। तीनो बहनों में मैं सबसे छोटी थी और भाई हम सबसे छोटा। वह मुझसे आठ वर्ष छोटा है। उसके जन्म होने के पहले मैं घर में सबसे छोटी थी, सबकी लाड़ली भी। उस ज़माने में बेटे और बेटियों में बहुत भेद-भाव किया जाता था। वैसेContinue reading “मैया की कहानी, मैया की जुबानी 2”

Conversations with Prof Kapil Muni Tiwary 6

An eminent scholar of Linguistics, Prof Kapil Muni Tiwary was well-known for his impeccable pronunciation and speech in Patna University. But very few people know that his pronunciation was not all that great in the initial part of his career and the students made fun of him. In this episode he shares how he convertedContinue reading “Conversations with Prof Kapil Muni Tiwary 6”

Conversations with Prof Kapil Muni Tiwary 3

In the second episode Prof K M Tiwary shares how he was refused admission to BA in Patna college, even though he was eligible for the same. In this episode he throws some light on his life as a student at H D Jain College Arah. One may also get a glimpse here of theContinue reading “Conversations with Prof Kapil Muni Tiwary 3”

Conversations with Prof Kapil Muni Tiwary 7

In this episode Prof Kapil Muni Tiwary shares the story of how he got the opportunity to study in the University of Pennsylvania, one of the top universities of the US, in the mid sixties for his PhD in Linguistics. It throws some light on the political changes that were taking place in Bihar inContinue reading “Conversations with Prof Kapil Muni Tiwary 7”

Humour in the classroom

You might all wonder who is this guy and what is he up to? Is he here to teach and preach on Humour in the Classroom or is he going to create some humour in this classroom too? Let me assure you that I shall keep my own teaching or even preaching to the minimum.Continue reading “Humour in the classroom”

Divasvapna: episode 1

Gijubhai’s Divasvapna is the story of a teacher who succeeds in making innovative experiments in the classroom. In the true spirit of the book’s title the teacher daydreams of igniting a fire for learning in the students. And he works hard to turn the dream into reality. His one year journey in the classroom wasContinue reading “Divasvapna: episode 1”